Hindi
Wednesday 26th of April 2017
code: 80716
इस्लाम की अज़मत

इस्लाम की अज़मत का मिनारा हुसैन है।
हर क़ौम कह रही है हमारा हुसैन है।

 

दरीया भी है ह़ुसैन कनारा ह़ुसैन है
हर दम रवाँ रहे जो वो धारा ह़ुसैन है।

 

बी फातेमा की आँख का तारा ह़ुसैन है
मौला अली का राज दुलारा ह़ुसैन है।

 

तह़तूस्सरा से अर्शे मोअल्ला तलक कहीं
कोई नहीं है जैसा न्यारा ह़ुसैन है।

 

नामो नेशान उसका मिटा कर के रख दिया
जिस जिस को एक वार भी मारा ह़ुसैन है।

 

जन्नत में शहद दूध जो तसनीम का दरीया
जितना भी है वो सारा तुम्हारा ह़ुसैन है।

 

नाकाम कर दिया है जो बातिल का इरादा
वो ज़ुल जनाह़ सवार हमारा ह़ुसैन है।

 


सज्दे को कर दिया है शहे दीन ने तवील
पर तुम को पुश्त से ना उतारा ह़ुसैन है।

 

ज़ख़्मी हुआ है सारा बदन से है सर जुदा
दर्दो अलम से फिर भी ना हारा ह़ुसैन है।

 

सौ जान से नेसार क़मर क्यूं ना हम हों जब
अल्लाह के रसूल को प्यारा ह़ुसैन है।

user comment
 

latest article

  हज़रत फातेमा मासूमा (अ.स) की हदीसे
  हज़रत इमाम मूसा काज़िम (अ.स.) के इरशाद
  हज़रत इमाम काज़िम का तशकीले हुकूमते ...
  इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम का ...
  हज़रत अली अलैहिस्सलाम का शुभ जन्म दिवस।
  नहजुल बलाग़ा में हज़रत अली के विचार
  हज़रत अली द्वारा किये गये सुधार
  इमाम अली की ख़ामोशी
  अमीरुल मोमिनीन अ. स.
  इमाम तक़ी अलैहिस्सलाम की अहादीस